Computer के पार्ट्स – कंप्यूटर इन हिंदी

कंप्यूटर क्या है?

Computer – एक स्वचालित एवं निर्देशों के अनुसार कार्य करने वाली इलेक्ट्रॉनिक device है , जो किसी भी data को Receive , Store तथा Process कर सकती है|कंप्यूटर शब्द लैटिन भाषा के Comput शब्द से बना है| Computer को हिंदी में संगणक कहते है|

computer-ke-parts-कंप्यूटर-के-पार्ट्स-Answervk

Computer का पूरा नाम :-

C  = Common

O  = Operating

M = Machine

P  =  Particularly

U = Used For

T = Technological

E = Engineering

R = Research

 

कंप्यूटर का अविष्कार :-

कंप्यूटरका अविष्कार सन 1822 में अंग्रेजी के गणितज्ञ चालर्स बैबेज ने किया था

Charles Babbage

कंप्यूटर की पीढ़ी(Generation) और उसका समय :-

अब तक कंप्यूटर की पांच पीढ़ी(Generation) आ चुकी है-

  1. First Generation (1946 – 1959)
  2. Second Generation (1959 – 1965)
  3. Third Generation (1965 – 1971)
  4. Fourth Generation (1971 – 1980)
  5. Fifth Generation (1980 – से अभी तक)

 

कंप्यूटर के  प्रकार :-

  • Micro Computer (PC)
  • Mini Computer
  • Workstation Computer
  • Mainframe Computer
  • Super Computer

Software / Hardware क्या है?

कंप्यूटर दो चीजो से मिलकर बना है| Softwarer और Hardware

Software :-

Softwarer प्रोग्राम्स का ग्रुप होता है जो किसी खास काम को करने के लिए बना होता है जिसकी भाषा को कंप्यूटर आसानी से समझ सकता है| जैसे C, C++, Java,  आदि | Softwarer दो प्रकार के होते है- Systam Softwarer और Application Softwarer

Hardware : –

यह कंप्यूटर के वह हिसे है जिन्हें हम अपनी आँखों से देख और हाथो से छू सकते है| इसमें Mother Bord, Hard Disk, keybord, mouse, Graphik Card आदि होते है|

 Input Device :-

Input Device ऐसे device होते  है जिनसे कंप्यूटर में किसी भी data भेजा जाता है-

जैसे –

Redgear A-17 Gaming Mouse with Upto 6400 DPI, RGB Lighting
Redgear A-17 Gaming Mouse with Upto 6400 DPI, RGB Lighting

BUY NOW 👉 Redgear A-17 Gaming Mouse with Upto 6400 DPI, RGB Lighting 

  • KEYBOARD
  • MOUSE
  • JOYSTICK
  • SCANNER
  • MICROPHONE
  • MICR
  • OCR

input and output devices

Output Device :-

Output Device ऐसे Device होते है जिनसे कंप्यूटर द्वरा किसी भी deta को प्राप्त किया जाता है|

जैसे-

  • MONITER
  • PRINTER
  • SPEEKAR
  • HEADPHONE

Processor(प्रोसेसर) क्या है? :-

हम आज बहुत सारी इलक्ट्रोनिक गेजेट्स का इस्तेमाल करते हैं| जिनमें से सबसे ज्यादा उपयोग हम मोबाइल और कंप्यूटर का करते हैं इनके अंदर में Processor होता है, जो मोबाइल और कंप्यूटर दोनों में लगा होता है| प्रोसेसर एक प्रकार का चिप है, जो कंप्यूटर,मोबाइल,लैपटॉप और टैबलेट इत्यादि में लगा रहता है जो इनका एक प्रमुख अंग है |

processor

Processor हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बिच की गतिविधियों को समझने का कम करता है , प्रोसेसर हमरे द्वरा कीबोर्ड या माउस से दिये गए निर्देशों को समझकर उसपर कार्य करता है| इस लिए इसे C.P.Uसेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कहते है |

AMD Athlon 3000G with Radeon Vega 3 Graphics Desktop Processor

👉buy AMD Athlon 3000G with Radeon Vega 3 Graphics Desktop Processor

इसे हम कंप्यूटर और मोबाइल का दिमाग भी कह सकते है |

 Processor(प्रोसेसर) बनने वाली कंपनी :-

company

  1. Intel
  2. AMD
  3. Qualecomm
  4. NVIDIA
  5. IBM
  6. Samsung
  7. Motorola
  8. Hewlett-Packard(HP)

कोर(Core) क्या है ?

जब भी प्रोसेसर की बात आती है तो हम उस प्रोसेसर का Core देखते है, की यह प्रोसेसर कितने कोर का है| कोर प्रोसेसर की छमता को दर्शाता है, की प्रोसेसर कितनी छमता वाला है| अगर प्रोसेसर 1 कोर का है तो यह एक समय में एक से अधिक कार्य नहीं कर सकता है जिस प्रोसेसर में जितना अधिक Core होगा वह उतना ही अधिक कार्यो को एक साथ कर सकता है |

इसी लिए आज लोग अधिक Core वाले प्रोसेसर को अपने कंप्यूटर में लगवाते है | इससे वे सभी काम को आसानी से कर सके| प्रोसेसर की पॉवर को GHz से मापा जाता है| जितना अधिक Core होगा उतना ही अधिक GHz होगा और हमें उतना speed मिलेगा | 

कोर(Core) के प्रकार :-

  1. Single Core Processor
  2. Dual Core Processor
  3. Quad Core Processor
  4. Hexa Core Processor
  5. Octo Core Processor
  6. Deca Core Processor

 

1.Single Core Processor :-

यह प्रोसेसर सबसे पुराने प्रकार का प्रोसेसर है| जो पुराने कंप्यूटरो में लगे रहते है| यह प्रोसेसर एक समय में एक ही कम कर सकता है| यह प्रोसेसर Multi Taskingके लिए अच्छा नहीं है| Single Core Processorको Basic Processor कहते है|

 

2.Dual Core Processor :-

इस प्रोसेसर में एक चिप को दो भागो में बट दिया जाता है| जिसे यह प्रोसेसर Multi Taskingको आसानी से कर पाता है| अब एक साथ दो कामो को आसानी से कर सकते है| लेकिन वर्तमान समय में यह प्रोसेसर उपयोगकर्ता को संतुष्ट नहीं कर पता|

 

3.Quad Core Processor :-

यह प्रोसेसर Multi Tasking के लिए बनया गया है इस प्रोसेसर में चिप को चार भागो में बटा गया है | जिससे उपयोग करता एक समय में एक से अधिक कामो को बहुत आसानी से कर सकता है|

 

4.Hexa Core Processor :-

इस प्रोसेसर में चिप को छः भागो में बात दिया जाता है| इसमें Multi Tasking आसानी से किया जा सकता है|

 

5.OctoCore Processor :-

यह प्रोसेसर गेमिंग और एडिटिंग के लिए उपयोग किया जाता है इसमें चिप को आठ कोर में बटा गया है |

 

6.Deca Core Processor :-

इस प्रोसेसर में चिप को दस कोर में बटागया है यह प्रोसेस बाकि सभी प्रोसेसर से अधिक शक्तिशाली है  इस प्रोसेसर  Multi Tasking आसानी से कर सकते है|

मदरबोर्ड क्या है :-

कंप्यूटर बहुत से इलक्ट्रोनिक पार्ट्स से मिलकर बना है जैसे- CPU, RAM, कीबोर्ड, माउस, ups, smps,ग्राफिक कार्ड आदि इनके बिना कंप्यूटर नहीं चलया जा सकता है| कंप्यूटर को चलने में इन सभी का अहम योगदान है| इसी में से एक है मदरबोर्ड…

motherboard

मदरबोर्ड एक सर्किट बोर्ड होता है जिससे कंप्यूटर के सभी पार्ट्स जुड़े रहते है| जैसे- माउस, कीबोर्ड, गर्फिककार्ड, प्रोसेसर, RAM आदि| मदरबोर्ड को PCB (printed circuit bord) कहते है |

 

मदरबोर्ड के जरुरी पार्ट्स –

CPU सॉकेट :-

CPU सॉकेट वह हिसा है जहा प्रोसेसर को लगया जाता है| सभी कंप्यूटरो में प्रोसेसर को मदरबोर्ड के अनुरूप लगया जाता है|

RAM सॉकेट :-

RAM सॉकेट में RAM को लगया जाता है | RAM से ही कंप्यूटर की speed बढती है RAM जितना जादा होगा कंप्यूटर की speed भी उतना ही जादा होगा|

IDE कनेक्टर :-

IDE कनेक्टर का इस्तमाल हार्डड्राइव और SSD को लगने के लिए किया जाता है| लेकिन वर्तमान में इसकी जगह sata cbale का इस्तमाल. किया जाता है| जो IDE से तेज गति में काम करती है|

BIOS CHIP & CMOS बैटरी :-

यह एक चिप है जिसमे पॉवर कांताक्ट कर कंप्यूटर के DATE ,TIME और हार्डवेयर सेटिंग को बनये रखता है|

Northe Bridge & South Bridge :-

कंप्यूटर के मदरबोर्ड को दो भागो में बटा होता है Northe Bridge और South Bridge , Northe Bridge कंप्यूटर के PCI स्लोड को नियंत्रित करता है और South Bridge नेटवर्क कार्ड को नियंत्रित करता है|

Northe Bridge

  • RAM
  • CPU
  • AGP

South Bridge

  • BIOS
  • I/O
  • PCI
  • EIDE
  • USB

Rear Conneetor :-

यह कंप्यूटर के किनारे में होते है जिनसे कीबोर्ड, माउस, USB CABLE,DATA cbale आदि को जोड़ा जाता है|

Graphic Card स्लोड:-

इस स्लोड में Graphic Card को लगया जाता है| जिसे VIDEO Card भी कहते है|

 

ROM क्या है?

ROM का पूरा नाम Read Only Memory  है| जिसका काम DETA को Read करना है| यह एक चिप के रूप में मदरबोर्ड में लगा होता है| जिसमे स्थाई रूप से Programs store रहता है| यह एक non Volatile memory होता है जो power Curt. होने पर भी अपना deta नहीं खोति है| Computer बनाते समयROM में कंप्यूटर को चालू और बंद करने जैसे सेटिंग programs डाले जाते है जिन्हें बदला नहीं जा सकता बस पढ़ा जा सकता है इस लिए ROM को Read Only Memory कहते है|

ROM के प्रकार :-

ROM

 

  • PROM
  • EPROM
  • EEPROM

PROM :-

PROM को Programmable Read Only Memory कहा जाता है| यह एक चिप के रूप में होता है जिसमे deta को एक ही बार Program किया जा सकता है| उसके बाद इसके deta को हटाया नहीं जा सकता |

EPROM :-

EPROM को Erasable Programmable Read Only Memory कहते है| इस के deta को हम हटा सकते है|

EEPROM :-

EEPROM को Electrically Erasable Programmable Read Only  कहते है| इस रोम में Program करन आसन है| इसे  Flash Memory और Hybrid Memory भी कहते है|

RAM क्या है?

RAM के बारे में हर स्माटफोन यूजर्स परिचित है क्योंकि जब आप नया मोबाइल लेने जाते हैं तब आपके मन में यही सवाल रहता है कि आपको कितनी RAM वाला मोबाइल लेना चाहिए|ताकि आगे चलकर के आपको किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े

Crucial Basics 4GB DDR4
Crucial Basics 4GB DDR4

👉Buy Crucial Basics 4GB DDR4 RAM Memory Module for Desktop

RAM कंप्यूटर हो या लैपटॉप हो या फिर आपका मोबाइल सभी डिवाइस में यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण चीज है क्योंकि इसके कारण ही कोई भी डिवाइस बेहतर ढंग से काम करता है RAM का पूरा नाम Random Access Memory है|

 RAM का क्या कम है?

RAM एक Primary memory है| जो कंप्यूटर को Virtual Space प्रदान करत है|जब हम कंप्यूटर या मोबाईल में किसी भी APP या सोफ्ट्वेयर को चालू करते है तब वह RAM के द्वरा चालू होता है| और उसी में चलता है | इस बिच RAM और प्रोसेसर के बिच जानकारी का अदन-प्रदान बहुत तेजी से होता है| RAM एक Volatile memory है जो कंप्यूटर में पॉवर कट होने पर अपना deta खो देता है| जितना अधिक RAM होगा हमें उतना ही अधिक speed मिलेगा| RAM कम होने पर कंप्यूटर या मोबाईल APP या सोफ्ट्वेयर ठीक से नहीं चला पता और हेंग होने लगता है| इसी लिए जब भी हम कंप्यूटर या मोबाईल लेने जाते है तब RAM को देखा जाता है|

Hard Disk क्या है?

Hard disk एक Secondary memory storage device है| जिसे HDD कहते है| Hard disk में किसी भी data को Stor कर के रखा जाता है| HDD गिरने से ख़राब हो जाता है| इसका आकार बड़ा होता है| यह SSD से सस्ती होती है|

HHD-hard disk

Cache memory:-

यह memory आकार में बहुत छोटी होती है इसे CPU Memory भी कहते है| इसकी speed बहुत तेज होती है| जीन प्रोग्राम या deta का इस्तमाल हम बार – बार करते है उनको Cache memoryअपने अंदरSave कर के रखता है

Solid-State Drive (SSD) क्या है?

यह एक Secondary memory storage device है| जिसे SSD कहते है| इसकी speed HDD तेज होती है| यह HDD की तुलना में कम पॉवर यूज़ करता है| और इसका आकार HDD से छोटा होता है| इसकी कीमत HDD से जादा होता है|

graphic card kya hai

ग्राफिक कार्ड एक इलेक्ट्रॉनिक कार्ड या हार्डवेयर कॉम्पोनेंट होता है जो कंप्यूटर या लैपटॉप के अलावा स्मार्टफोन में भी लगा होता हैकंपनी की तरफ से लैपटॉप या कंप्यूटर के मदरबोर्ड में यह कार्ड लगा हुआ होता है या चाहेतो आप बजार से लाकर भी ग्राफिक कार्ड को लगा सकते है|

graphic card

स्मार्टफोन में ग्राफिक कार्ड नहीं लगाया जा सकता है| क्योंकि मोबाईल में अलग से कार्ड लगाने के लिए नहीं दिया जाता, लेकिन कंप्यूटर में यह काम काफी आसान है| क्योंकि कंप्यूटर लैपटॉप में इसके लिए अलग से जगह दिए जाते हैं जिसमें आप अपने हिसाब से ग्राफिक कार्ड लगवा सकते हो

Graphic card कैसे काम करता है ?

आजकल किसी भी लैपटॉप या कंप्यूटर में हाई ग्राफिक कार्ड होना काफी जरूरी हो गया है क्योंकि सभी अपने लैपटॉप या कंप्यूटरसे गेमिंग या प्रोसेसिंग का काम करना चाहते हैं इसके लिए Graphic card का होना बहुत जरुरी है|  किसी भी सॉफ्टवेयर को और भी अच्छी तरीके से चलाने के लिए होता है

Graphic card हमें high video Quality प्रदान करता है| इसके अलावा हम आपको बता दें कि बिना ग्राफिक्स कार्ड के लैपटॉप में गेम चलाना काफी मुश्किल हो जाता है अगर आपका का गेम बार-बार हैंग हो रहा है ठीक से  नहीं चल रहा है तो समझ लीजिए कि आपका ग्राफिक कार्ड नॉर्मल है

SMPS क्या है? :-

SMPS का पूरा नाम Switched Mode Power Supply होता है| यह Power को  AC से DC बदलता है| और कंप्यूटर में वोल्टेज को अलग अलग भागो में बाट देता है| इसका इस्तमाल CPU के अंदर किया जाता है|

SMPS

 

इन्हें भी पढ़े :-

पृथ्वी की उत्पत्ति और विकास

हड़प्पा सभ्यता की खोज

पचराही छत्तीसगढ़

हिंदी साहित्य का इतिहास

भारत के प्रमुख उद्योग 

Sharing :

Leave a Comment